customer se baat karne ka tarika in Hindi

Rate this post

हम अपनी वेबसाइट easyinfo.in पर बिजनेस से जुड़ी जानकारी समय-समय पर देते रहते हैं जैसे कि बिजनेस शुरू कैसे करें या बिजनेस को सफल कैसे बनाएं। लेकिन बिजनेस को सफल करने में customer se baat karne ka tarika पता होना चाहिए। बहुत से बड़ी बड़ी बिजनेसमैन द्वारा यह बात कहा जाता है कि “ग्राहक भगवान समान होता है” और कुछ बिजनेसमन यह भी कहते हैं कि “ग्राहक हमेशा सही ही होता है।” 

लेकिन इन सब बातों का कोई मतलब नहीं बनता है जब तक आपके कस्टमर आपसे खुश ना रहो और कस्टमर को खुश करने का सबसे पहला तरीका यह होता है कि कस्टमर से सही तरीके से बात किया जाए। तो आज के इस पोस्ट में हम customer se baat karne ka tarika बताने वाले हैं।

हम आपको बताएंगे customer se baat karne ka tarika कैसा होना चाहिए जिससे कि कस्टमर हमारे बिजनेस के साथ जुड़ सके और ज्यादा से ज्यादा हमसे सामान खरीदने की कोशिश करें। इससे जुड़े हम आपको अन्य भी जानकारी इस पोस्ट में देने वाले तो चलिए बिना किसी देरी के हम आपको customer se baat karne ka tarika बताते हैं। 

इसको भी जान सकते हैं: अपने बिजनेस को बड़ा कैसे करें

customer se baat karne ka tarika: ग्राहक से मुस्कुरा कर बात करें

customer se baat karne ka tarika में सबसे पहला तरीका यह आता है कि आप कस्टमर से मुस्कुरा कर बात करें। कस्टमर जब भी आपके दुकान पर आए या आपको कॉल करें तो आप सबसे पहले उसको नमस्कार, हेलो, सलाम करके उसके बाद बात करें। 

आप बातचीत में मुस्कुराहट बनाए रखें। मुस्कुराहट से आप अपने ग्राहक के दिमाग में यह बैठा सकते हैं कि आप बहुत ज्यादा पॉजिटिव इंसान हैं, आप ग्राहक से बात करते समय उनसे दिलचस्पी बनाए रखे हुए हैं, और वह आपके लिए स्पेशल है। 

एक बात का आप और ध्यान रखें कि कस्टमर से बात करते समय आप ज्यादा मुस्कुराने की भी कोशिश ना करें। एक सामान्य तरीके से आप मुस्कुराए और आप इस तरह से मुस्कुराए कि ग्राहक को भी थोड़ी बहुत मुस्कुराने का मौका मिल सके। 

कस्टमर का नाम लेकर के बात करे 

यह तो आपको पता ही होगा कि हर एक इंसान का नाम उसके लिए बहुत ज्यादा खास होता है और जब भी उस इंसान को उसके नाम से बुलाया जाता है या उसका नाम लेकर के बात किया जाता है तो उसको बहुत ज्यादा अच्छा लगता है। 

इसी टेक्निक को बहुत से बड़े-बड़े बिजनेस भी इस्तेमाल करते हैं। आपने नोटिस किया होगा कि जब भी आपको ईमेल या टैक्स मैसेज किसी कंपनी या बैंक द्वारा आता है तो उसमें सबसे पहले आपका नाम लिखा हुआ होता है। इसके अलावा जब आप किसी कस्टमर केयर से बात करते हैं तो वहां पर भी आपको सबसे पहले आप का नाम लेकर के बात किया जाता है। 

इसी टेक्निक को आप अपने बिजनेस में इस्तेमाल कर सकते हैं। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो customer se baat karne ka tarika दूसरा यह है कि आप उनका नाम लेकर के बात करें। 

कस्टमर की ज्यादा सुने और कम बोले 

customer se baat karne ka tarika एक यह भी है कि कस्टमर की ज्यादा सुने और कम बोले। आज के समय में जितने भी लोग इस दुनिया में मौजूद है उस में से 90 परसेंट या कहा जाए तो 99 परसेंट लोग ज्यादा बोलना पसंद करते हैं। 

वह चाहते हैं कि वह ज्यादा से ज्यादा बोले और दूसरे लोग उनकी बात को सुने और इसी चीज को आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं यानी कि आप कस्टमर को ज्यादा बोलने दे और खुद शांत होकर सुनते रहें। कम बोलने से यह फायदा होगा कि आप ऐसी बात कहने से बच जाएंगे जिसको कह करके आपको किसी भी तरह का नुकसान अपने बिजनेस में हो सकता है। 

इसको भी जान सकते हैं: Future business ideas in Hindi

पूरी बात सुनने के बाद बोले 

customer se baat karne ka tarika कि कस्टमर जब भी आपके दुकान पर आए या ऑफिस पर आए तो आप को सबसे पहले अपने कस्टमर की पूरी बात को सुनना है उस समय आपको बोलने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। जब कस्टमर आपने पूरी बात खत्म कर ले चाहे उसको किसी भी नए चीज को खरीदना हो या किसी पुराने प्रोडक्ट में उसको समस्या हो लेकिन आपको तुरंत नहीं बोलना है। जब वह अपनी पूरी बात खत्म कर ले तब आप अपनी बात रखें और आप अपनी बात को कम शब्दों में रखने की कोशिश करें। 

customer se baat karne wala number फ्री रखे 

बहुत से लोग बिजनेस शुरू करते समय बिजनेस के लिए नंबर ले लेते हैं लेकिन उसी नंबर को अपने दोस्त, रिश्तेदार और परिवार के सदस्य के साथ शेयर कर देते हैं। बिजनेस के नंबर से ही वह अपने दोस्तों से बात करना शुरू कर देते हैं और यह सब जानता है कि दोस्तों से बात करने पर समय का पता नहीं चलता है।

इसी दौरान कस्टमर के फोन आते हैं और बहुत से लोग कस्टमर के फोन को तुरंत नहीं उठाते हैं बल्कि दोस्तों से बात करने में लगे हुए होते हैं। यह एक बात करने का गलत तरीका माना जा सकता है क्योंकि customer se baat karne ka tarika यह नहीं है कि जब आप कस्टमर से बात करें तभी अच्छे से बात करें। बल्कि बात करने के तरीके में यह भी शामिल है कि आप कस्टमर के फोन को समय पर उठाएं और उनसे बात करना शुरू कर दें। 

इसको भी जान सकते हैं: बिजनेस के लिए एप्स कौन से है

customer की जरूरत को समझे 

customer se kaise baat kare: understand customer needs
customer se kaise baat kare: understand customer needs

चाहे आप किसी भी तरह का बिजनेस करते हो जब भी कोई कस्टमर आपके पास आता है तो उसकी कोई ना कोई एक जरूरत होती है। जैसे कि अगर आप साड़ी का कारोबार करते हैं तो जब भी आपके पास कोई महिला साड़ी खरीदने आती है तो उसकी एक अलग तरह की जरूरत होती है। हो सकता है कि वह महिला शादी के लिए साड़ी खरीद रही हो या अपने घर में किसी त्यौहार को मनाने के लिए साड़ी खरीद रही हो या किसी और उद्देश्य के लिए वह साड़ी खरीदना चाहती हो। 

आपको यह पता होगा ही कि अलग-अलग समय के लिए अलग-अलग तरह की साड़ियां महिला पहनना पसंद करती हैं। आपको सबसे पहले उस महिला की जरूरत को समझ लेना है, उसके बाद किसी भी साड़ी को आपको दिखाना चाहिए। ऐसा करके आप अपना खुद का समय और उस महिला का काफी समय बचा सकते हैं। customer se baat karne ka tarika में यह भी शामिल है कि सबसे पहले ग्राहक की जरूरत को समझ लिया जाए फिर उसको किसी प्रोडक्ट के बारे में बताया जाए। 

customer से बात करते करते दूसरे काम को ना करें 

चाहे आप खुद अपने दुकान या बिजनेस में ग्राहक से बात करते हैं या आपने लोगों को नौकरी पर रखा हुआ है जो कि आपके ग्राहक के साथ बात करते हैं। परन्तु आप इस बात का ध्यान रखें कि ग्राहक से बात करते समय किसी अन्य काम को नहीं करना चाहिए और ना ही अपने मोबाइल फोन को चलाते रहना चाहिए।

मान लीजिए कि आपके दुकान पर एक ग्राहक मौजूद है और तभी दूसरा ग्राहक आ जाता है तो आपको सबसे पहले वाले ग्राहक को कुछ सामान दे देना चाहिए, देने के बाद आप यह कह सकते हैं कि आप तब तक इसको को देखिए हम दूसरे जाने से थोड़ी बात कर लेते हैं। अगर आपको फोन आया तो आप यह कह सकते हैं कि आप समान देखते रहे तब तक हम थोड़ा बात कर लेते हैं। यह customer se baat karne ka tarika एक सही तरीका है।

customer के साथ ज्यादा फ्रेंडली ना हो जाए 

जब आप इंटरनेट पर यह सच करेंगे कि customer se baat karne ka tarika कौन सा अच्छा है। तो आपको यह जरूर पढ़ने को या सुनने को मिल सकता है कि कस्टमर के साथ आप फ्रेंडली रहे यानी कि कस्टमर से आप दोस्ताना तरीके से बात करें। पर हम आपको बता दें कि कस्टमर से ज्यादा दोस्ताना तरीके से बात करने पर आपको ही हानि हो सकती है। यह भी सत्य है कि कस्टमर से थोड़े दोस्त की तरह बात करना चाहिए, लेकिन जब आप ज्यादा दोस्त की तरह बात करने लग जाते हैं तो फिर कस्टमर के नजरों में आप की वैल्यू नहीं रह जाती।

इसके अलावा कस्टमर यह उम्मीद लगा लेता है कि आप उसको बहुत कम दाम पर सामान को दे देंगे और अगर आप ऐसा नहीं करते तो फिर कस्टमर मन ही मन आप पर गुस्सा करने लगता है और आपके दुकान पर अगली बार ना आने के बारे में सोचने लगता है। वहीं अगर आप सामान्य दोस्ताना रखेंगे तो कस्टमर आपसे एक कारोबारी के तौर पर ही बात करेगा।

इसको भी जान सकते है: online business के फायदे और नुकसान क्या-क्या है

प्रोडक्ट की पूरी जानकारी रखे 

मान लीजिए कि आप एक मोबाइल की दुकान पर जाते हैं और आपको दुकानदार यह बोलता है कि इस मोबाइल फोन को इस तारीख को कंपनी द्वारा लांच किया गया है और इस फोन में आपको इतना RAM, इतना स्टोरेज, इतना बड़ा डिस्प्ले, इतने कैमरे मिल सकते हैं और फ्लिपकार्ट पर यह बेस्ट सेलर मोबाइल फोन है। इसके अलावा आपको मोबाइल फोन के बारे में और उसकी कंपनी के बारे में ज्यादा जानकारी देगा तो आपको यह लग जाएगा कि यहां दुकानदार मोबाइल फोन के बारे में ज्यादा जानकारी रखता है। 

अब आप उसकी बात को ज्यादा ध्यान से सुनना शुरू कर देंगे और साथ ही साथ उसके बताए गए बात पर आपका दिमाग पूरा विश्वास ही करेगा।इसी चीज को आपको अपने बिजनेस में भी करना है। चाहे आपका बिजनेस मोबाइल फोन का है, कपड़े का है या अन्य किसी चीज का है। आपको अपने बिजनेस और उसके प्रोडक्ट की पूरी जानकारी रखना है। इसको सबसे अच्छे customer se baat karne ka tarika में से एक माना जाता है।

निजी बाते करने से बचे 

customer se baat karne ka tarika कि किसी भी कस्टमर के निजी जीवन के बारे में बात करने की कोशिश ना करें। ना ही आप कस्टमर के कमाई, उम्र, धर्म, राजनीति दिलचस्पी इत्यादि के बारे में बात करें। इस तरह के टॉपिक पर बात करके हो सकता है कि आप कस्टमर की नजरों में बुरे इंसान बन जाए। आपने यह तो जरूर ही सुना होगा कि किसी आदमी की कमाई और किसी औरत का उम्र कभी नहीं पूछना चाहिए।

आप इस बात को आज अपने दिमाग में बैठा ले कि आपको किसी की उम्र, कमाई, धर्म, राजनीति, निजी जीवन जैसी टॉपिक के बारे में बिल्कुल भी बात नहीं करना है। आप हल्का फुल्का बात करने की कोशिश करें अगर आप इसकी गहराई में उतरते हैं तो आप बात करने के गलत तरीके की तरफ रुख करने की कोशिश कर रहे हैं। 

इसको भी जान सकते है: Business Woman कैसे बने?

निष्कर्ष

हमने इस पोस्ट में आप लोगों को यह बताया कि customer se baat karne ka tarika क्या है यानी कि कस्टमर से कैसे बात करें कि वह आपसे खुश हो जाए और आपके दुकान से ही समान को खरीदें। इसमें हमने आपको कुछ बेहतरीन तरीके बताने की कोशिश की है जिसको इस्तेमाल करने पर आपको जरूर ही फायदा नजर आएगा। तो हम उम्मीद करते हैं कि आपको “customer se baat karne ka tarika” भी पोस्ट हमारा पसंद आया होगा। धन्यवाद

इसको भी जान सकते है: CEO कैसे बने

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top