Business me profit ke upay | Profit tips in business

Rate this post

Business me profit ke upay? आज के इस डिजिटल दुनिया में किसी भी तरह का कोई बिजनेस खोलना बहुत ही आसान हो गया है। बहुत ही आसानी से किसी भी बिजनेस के बारे में इंटरनेट से जानकारी लेकर के बिजनेस को खोला जा सकता है। लेकिन बिजनेस में प्रॉफिट कैसे कमाए (Business me profit ke upay) ? 

यह काफी ज्यादा जरूरी सवाल हो जाता है हर एक बिजनेस के लिए चाहे आप बिजनेस कोई कर रहे हैं या आने वाले समय में आपको बिजनेस करेंगे तो आपको यह जरूर जान लेना चाहिए कि बिजनेस में प्रॉफिट कमाने के कौन-कौन से उपाय (Business me profit ke upay) हैं या बिजनेस में प्रॉफिट कैसे आता है। तो चलिए हम आपको इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी देते हैं, ताकि आप बिजनेस से प्रॉफिट कमा सकें। 

यह भी जानें: Best business books list in Hindi

बिजनेस में प्रॉफिट का मतलब क्या है

बिजनेस में प्रॉफिट का मतलब क्या है? अगर आपका यह सवाल है तो चलिए हम आपको बता देते हैं कि बिज़नेस में प्रॉफिट का मतलब क्या होता है। बिजनेस में प्रॉफिट का मतलब बहुत ही आसानी है कि आप किसी प्रोडक्ट या सर्विस को कितने पैसे में खरीदते हैं या तैयार करते हैं। और फिर आगे आप उस प्रोडक्ट या सर्विस को कितने में बेचते हैं। मान लीजिए कि आपने ₹90 में किसी प्रोडक्ट को बनाया या किसी से खरीदा और आप इस प्रोडक्ट को ₹100 में आगे बेच दिया तो आपका ₹10 प्रॉफिट हुआ। 

जो हमने बिजनेस के प्रॉफिट का तरीका ऊपर बताया वह काफी ज्यादा आसान है लेकिन वास्तव में ऐसा बिल्कुल भी बिजनेस में प्रॉफिट नहीं होता। इसके अलावा भी बहुत सी चीजें बिजनेस के प्रॉफिट को तय करती है।

 उदाहरण को तौर मन मान लीजिए कि आपने ₹90 में सामान को खरीद करके ₹100 बेच लेकिन उसको बेचने के लिए कितना मार्केटिंग का खर्च लगाना पड़ा, आपको कितना समय लगाना पड़ा, आपको ट्रांसपोर्ट में कितना पैसा खर्च करना पड़ा या फिर आपको किसी स्टाफ को रखा हुआ है तो उसको आप कितना सैलरी देते हैं इन सब चीजों के खर्च करने के बाद जो शेष पैसा बचता है वह वास्तव में एक बिजनेस के लिए प्रॉफिट होता है। 

सारे खर्चे पर ध्यान रखे 

अगर आपको बिजनेस में प्रॉफिट पाना है तो आपको अपने सारे खर्चे पर ध्यान देना होगा। आपको जैसे कि हमने ऊपर बताया कि अगर आप ₹90 का सामान ₹100 में आगे बेचते हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप ₹10 का मुनाफा कर रहे हैं।

हो सकता है कि आपको उस प्रोडक्ट को बेचने के लिए कुछ पैसा खर्च करना पड़ रहा हो या फिर आपको उस प्रोडक्ट को अपने पास रखने और उसके बाद बेचने में आपको कुछ पैसा खर्च करना पड़ रहा है, इसके अलावा भी ऐसे बहुत तरह के खर्चे होते हैं जो कि छुपे हुए होते हैं।

जो कि सामान्य रूप से हमें नहीं दिखते हैं। लेकिन वास्तव में उनका अस्तित्व होता है और जब तक अपने सारे खर्चों के बारे में नहीं जान पाएगा तब तक आप प्रॉफिट नहीं कमा पाएंगे। आपको अपने Business me profit ke upay अगर जानने हैं तो आपको सबसे पहले अपने सारे खर्चे को जान लेना होगा। सारे खर्चे को जानना ना ही अपने बिजनेस में प्रॉफिट कमाने का एक उपाय है। 

यह भी जानें: Business rules in Hindi

उस प्रोडक्ट को बेचे, जिसमें आपको प्रॉफिट ना हो

कुछ ऐसे प्रोडक्ट होते हैं जिनको बेचने पर काफी आसानी से बिक जाते हैं। उस प्रोडक्ट के बहुत सारे कस्टमर खरीदने के लिए तैयार होते हैं, लेकिन उसमें प्रॉफिट मार्जिन बिल्कुल भी नहीं होता है। उदाहरण के तौर पर ब्रांडेड प्रोडक्ट जो होते हैं वह काफी आसानी से बिक जाते हैं लेकिन उसमें प्रॉफिट मार्जिन रिटेलर को कम मिलता है। 

अगर एक छोटा बिजनेसमैन इन तरह के प्रोडक्ट को बेचता है तो उससे कोई फायदा नहीं होगा तब तक जब तक वह ज्यादा अमाउंट में यानी कि बहुत सारे प्रोडक्ट को नहीं बेचते है, तब तक उसे प्रॉफिट समझ नहीं आएगा। अगर आप कम प्रोडक्ट को बेच पाते हैं तो आप ब्रांडेड प्रोडक्ट को बेचने से बचें। बल्कि आप ऐसे प्रोडक्ट को बेचने की कोशिश करें जिसमें कि आपको ज्यादा प्रॉफिट  मिल सके। 

आप इस बात का भी ध्यान दें कि आप ओरिजिनल या ऐसे प्रोडक्ट को ही ग्राहकों बेचे  जिससे कि ग्राहकों को फायदा हो ना कि ऐसे प्रोडक्ट को बेचे जिससे कि ग्राहक को नुकसान हो। अगर आप ज्यादा प्रॉफिट कमाने के चक्कर में बेकार प्रोडक्ट बेच देते हैं तो फिर ग्राहक आपसे अगली बार कोई भी सामान नहीं खरीदेंगे। तो यह भी Business me profit ke upay ही है।

मार्केटिंग को बेहतर करें

improve marketing - Business me profit ke upay
improve marketing – Business me profit ke upay

बिजनेस का ज्यादा पैसा मार्केटिंग पर चला जाता है, मार्केटिंग बिजनेस के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। मार्केटिंग करने पर ही ग्राहक बिजनेस के बारे में जान पाते हैं और बिजनेस से किसी भी तरह का डील करते हैं। लेकिन मार्केटिंग को सही तरीके से नहीं किया जाता है तो जो पैसा इन्वेस्ट किया जाता है उस इन्वेस्टमेंट पर ज्यादा रिटर्न नहीं मिल पाता है। 

उसी मार्केटिंग को सही तरीके यानी बेहतर तरीके से किया जाता है तो उसी इन्वेस्टमेंट पर ज्यादा रिटर्न मिल जाता है। तो आपको अपने बिजनेस को प्रॉफिटेबल करने यानी कि अपने बीच में से प्रॉफिट कमाने के लिए आपको अपनी मार्केटिंग को ऑप्टिमाइज करना होगा। आप मार्केटिंग को इस तरीके से करें कि जो पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं उससे ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट सके, ऐसा नहीं कि अगर आप ₹1000 मार्केटिंग में इन्वेस्ट कर रहे हैं तो आपको ₹1100 रिटर्न मिला। इस तरह की मार्केटिंग करने से आप प्रॉफिटेबल बिजनेस नहीं बन पाएंगे। अगर ₹1000 मार्केटिंग इन्वेस्ट करे तो आपको कम से कम ₹2000 प्रॉफिट कमाए। 

स्टाफ के productivity को बढ़ाएं

अपने Business me profit ke upay में से एक यह भी उपाय है कि आप अपने स्टाफ के प्रोडक्टिविटी को बढ़ाएं। यानी कि आपके स्टाफ कितना काम कर रहे हैं अभी के समय में ऐसा कुछ करिए कि वही स्टाफ ज्यादा काम कर सकें। आसान शब्दों में कोई भी बिजनेस तब तक ज्यादा पैसा कमा पाता है जब उसके स्टाफ अच्छे तरीके से काम करते हैं और साथ ही साथ ज्यादा काम करते हैं।

स्टाफ से ज्यादा काम लेने के लिए भी कुछ नियम होते हैं। जिनको फॉलो करके ही आप स्टाफ से ज्यादा काम ले सकते हैं। यदि आप स्टाफ से यह बोल देते हैं कि आप कल से ज्यादा से ज्यादा काम करिए तभी आपको नौकरी पर रखा जाएगा तो फिर आपके स्टाफ काम तो करेंगे लेकिन उतना ज्यादा प्रोडक्टिविटी के साथ नहीं कहेंगे, जितना वह कर सकते हैं। 

बल्कि आपको अपने स्टाफ को ट्रैनिग देना होगा और ऐसा सिस्टम बनाना होगा जिससे कि आप हर एक अपने स्टाफ को ट्रैक कर सकें। तो अपने स्टाफ की प्रोडक्टिविटी को बढ़ा करके आप अपने बिजनेस के प्रॉफिट को भी बढ़ा लेंगे। क्योंकि आप जितना स्टाफ को पहले पैसा देते थे, अभी भी उतना ही पैसा ही आपको देना होगा लेकिन ज्यादा प्रोडक्ट और सर्विस को आप बेच पाएंगे। 

वफादार ग्राहक बनाए

तो यह भी Business me profit ke upay ही है कि अपने बिजनेस में प्रॉफिट बढ़ाने के लिए आपको कई तरह के खर्च को कम करना होगा। जिसमे खर्चा ज्यादा लगता है एक बिजनेस के लिए वह मार्केटिंग है।  मार्केटिंग पर बिजनेस को ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ता है लेकिन अगर आप ऐसे कस्टमर बना लेते हैं जो आपके साथ वफादार हो, आपके हर प्रोडक्ट और सर्विस को वह खरीद लेते हैं। 

साथ ही साथ आपके बिजनेस के बारे में अपने दोस्त, रिश्तेदार और अन्य लोगों को बताते रहते हैं तो फिर बिज़नेस को मार्केटिंग पर कम इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत होगी क्योंकि आपके वफादार ग्राहक आपके लिए मार्केटिंग करते रहेंगे। 

जब कोई अपना रिश्तेदार,दोस्त किसी कंपनी या प्रोडक्ट के बारे में बताता है तो हम उसको आंख बंद करके खरीद लेते हैं। ठीक इसी तरह से जब आपके बिजनेस के बारे में कोई अपने दोस्त रिश्तेदार को बताएगा तो वह भी आपके बिजनेस के प्रोडक्ट या सर्विस को आंख बंद करके खरीद लेगा। 

Discount और offer को कम करें 

reduce discount and offered
reduce discount and offered

आज के अधिकतर बिजनेस इस नियम का पालन करते हैं कि वह अपने ग्राहक को ज्यादा से ज्यादा offer देने की कोशिश करते हैं और डिस्काउंट देते हैं। जिससे कि उनके ग्राहक की संख्या बढ़ जाती है और उनको यह लगता है कि अब वह कामयाब बिजनेस बना चुके हैं। 

आज के समय कई बड़े-बड़े स्टार्टअप भी ऐसा कर रहे है लेकिन ऐसा करने के बाद ग्राहक की संख्या तो बढ़ जाती है लेकिन बिजनेस में प्रॉफिट बिल्कुल भी नजर नहीं आता है। चाहे आप एक छोटा बिजनेस कर रहे हैं या आप स्टार्टअप शुरू किए हैं अगर आप ज्यादा डिस्काउंट अपने ग्राहक को देना शुरू कर देंगे तो फिर आप प्रॉफिट नहीं कमा पाएंगे। 

इसके अलावा ज्यादा डिस्काउंट देने पर आपके जो ग्राहक बनेंगे वह ग्राहक वफादार ग्राहक नहीं होंगे। आज के समय में कई बिजनेस आर्थिक समस्या का सामना कर रही हैं, बस डिस्काउंट देने की वजह से। डिस्काउंट देकर उन्होंने ग्राहक की संख्या तो बढ़ा ली लेकिन वह सब ग्राहक सिर्फ और सिर्फ डिस्काउंट के लिए उनसे जुड़े थे। उन ग्राहकों को नए कंपनी डिस्काउंट दे रही है तो वह नई कंपनी की तरफ रुख कर रहे हैं।

यह भी जानें: Online vs offline business कौन सा best है?

अंत में कुछ खास राय – Business me profit ke upay

बिजनेस को कैसे शुरू करें इसके बारे में अपनी वेबसाइट पर बहुत जानकारी दी है लेकिन बिजनेस में प्रॉफिट कैसे कमाए, Business me profit ke upay, आदि के बारे में बहुत ही कम बिजनेसमैन जान पाते हैं। बिजनेस में प्रॉफिट जो कमाते हैं लेकिन इतना प्रॉफिट नहीं कमा पाते हैं जितना वह प्रॉफिट कमा सकते हैं। 

तो इस पोस्ट में हमने Business me profit ke upay बताएं। हम उम्मीद करते हैं कि इससे आपको अपने बिजनेस में प्रॉफिट कमाने के तरीके के बारे में समझ आ गया होगा। यदि आपके मन में अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top